new desh bhakti shayari download in hindi [2020]-देश भक्ति शायरी इन हिंदी [2020]

Share:

new desh bhakti Shayari download in Hindi [2020]



new desh bhakti shayari download in hindi



hello dosto jaisa ki aap jante ho 26 January aane hi wala hai or is din ko hamare desh me alag alag jagaho pr jaise schoolme,clooage me,office me desh bhakti ki lahar aa jati h,alag alag jagaho pr programs bhi hote hai jise aap khub enjoy karte ho isi liye aaj hum aap sb ke liye new desh bhakti shayari download in Hindi 2020 lekar aaye hai jie aap apne school, collage me bol sakte ho.

is new desh bhakti Shayari download in Hindi me aapko desh bhakti Shayari in Hindi photo download,Desh Bhakti Shayari in Hindi image download,Desh bhakti Shayari in Hindi free download,desh bhakti quotes in hindi,desh bhakti Shayari 2020 in Hindi,shahido ke liye Shayari,desh bhakti par Shayari,Desh bhakti sher milege agar article achha lage to apne friends me jarror share Karna

dosto agar aapko or bhi new desh bhakti shayari download in hindi dekni hai to aap hmare webite mubarak wishes pe jaa ke bhi dekh sakte ho jaha aapko or bhi new desh bhakti shayari download in hindi dekhne ko mil jayegi.

देश भक्ति शायरी इन हिंदी [2020]

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते है , 
आजाद  हैं मगर गुलामी किये जाते हैं , 
बंदन करो उन सैनिकों  का , 
जो मौत को आँचल में जिए जाते हैं ..!!


"जब इश्क और क्रांति का अंजाम एक ही है 
तो राँझा बनने से 
अच्छा है भगत सिंह बन जाओ...
!! जय हिन्द !!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari in hindi image download

अनेकता में एकता ही इस देश की शान है, 
इसीलिए मेरा भारत महान है



अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं 
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं



अपनी धरती अपना हैं ये वतन, 
मेरा है मेरा है ये वतन इस पर जो आॅंख उठाएगा, 
जिंदा दफना दिया जाएगा मुझे जान से भी प्यारा है ये वतन..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari download in hindi


आजाद, भगत सिंह जैसे इस देश में जन्में वीर यहाँ, 
कुर्बानी की इनकी गाथाएं गता है ये सारा जहाँ..!!



आजादी की कभी शाम नही होने देगे, 
शहीदों  की कुरबानी बदनाम नहीं होने देंगे  , 
बची हो जो एक बूंद भी गरम लहू की तब तक, 
भारत माता का आचल नीलाम नहीं होने देंगे..!! 



कभी सनम को छोड़ के देख लेना, कभी शहीदों को याद करके देख लेना, 
कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो, देश से कभी इश्क करके देख लेना...
!! जय हिन्द !!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari in hindi photo download

कर जस्बे को बुलंद जवान 
तेरे पीछे खड़ी आवाम 
हर पत्ते को मार गिरायेंगे 
जो हमसे देश बटवायेंगे..!!



करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि 
तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले, 
हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर, 
या फिर कभी जिंदगी न मिले..!!1




किसी को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं, 
किसी को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं, 
धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों, 
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari in hindi free download

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ, 
अपनी  नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ, 
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ, 
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ !!



इश्क तो करता है हर कोई, 
महबूब पे मरता है तो हर कोई, 
कभी वतन को महबूब बना कर देखो 
तुझ पे मरेगा हर कोई ……….!!!



उन आँखों की दो बूंदों से सातों सागर हारे हैं, 
जब मेहँदी वाले हाथों ने मंगल-सूत्र उतारे हैं..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari 2020 in hindi download

उस फौजी के बच्चे से पुछो दिवाली क्या है...?? 
जो पिछली बार भी लड़ा माँ से, कि पिताजी कहाँ है...
!! जय हिन्द !!



ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा 
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा 
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए 
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये..!!
कभी ठंड में ठिठुर के देख लेना,कभी तपती धूप में जल के देख लेना। 
कैसे होती है हिफाज़त मुल्क की, कभी सरहद पर चल के देख लेना। 
कभी दिल को पत्थर करके देख लेना, कभी अपने जज्बातों को मार के देख लेना। 
कैसे याद करते है मुझे मेरे अपने, कभी अपनों से दूर रहकर देख लेना। 
कभी वतन के लिए सोच के देख लेना, कभी माँ के चरण चूम के देख लेना। 
कितना मज़ा आता है मरने में यारो, कभी मुल्क के लिए मरके देख लेना। 
कभी सनम को छोड़ के देख लेना, कभी शहीदों को याद करके देख लेना। 
कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो, मेरी तरह देश से कभी इश्क करके देख लेना। 
मेरी तरह देश से कभी इश्क करके देख लेना !! 
शहीदों को सत् सत् नमन...
!! जय हिन्द !!



कुछ नशा तिरंगे की आन का है, 
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है, 
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा, 
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari download

कुछ पन्ने इतिहास के 
मेरे मुल्क के सीने में शमशीर हो गएँ, 
जो लड़े, जो मरे वो शहीद हो गएँ, 
जो डरे, जो झुके वो वजीर हो गएँ..!!



खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं, 
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं, 
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों, 
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है



खून से खेलेंगे होली, 
अगर वतन मुश्किल में है 
सरफ़रोशी की तमन्ना 
अब हमारे दिल में है..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
देश भक्ति शायरी इन हिंदी 2019

खून से खेलेंगे होली, 
अगर वतन मुश्किल में है, 
सरफरोशी की तमन्ना, 
अब हमारे दिल में है, 
आओ मिलकर करे देश को सलाम, 
बोलो मेरा भारत महान ……!!!



खूब बहती है, अमन की गंगा बहने दो, 
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो, 
लाल हरे रंग में ना बाटो हमको, 
मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो…!!



चले आओ मेरे परिंदों लौट कर अपने आसमान में, 
देश की मिटटी से खेलो, दूर-दराज़ में क्या रखा  है..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
shayari desh bhakti 2020

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले , 
शहीदों के दिल में थी वो जलवा यद् करले 
जिसमे बहकर आज़ादी पहुँची थी किनारे पे, 
देशभक्तों के खून की वो धारा याद कर ले…!!



चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में हैं, 
इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं, 
मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं, 
कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं..!!



जशन आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को, 
फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को…!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti quotes 2020

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई, 
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता, 
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई, 
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता …!! 




जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं 
माँ की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, देश की आजादी बचाते हैं 
देश के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते हैं..!!



जो अब तक ना खौला वो खून नही पानी हैं, 
जो देश के काम ना आये वो बेकार जवानी हैं..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
shahido ke liye shayari 2020

तेरे बिना में ये दुनिया छोड तो दूं , 
पर उसका दिल कैसे दुखा दुं , 
जो रोज दरवाजे पर खडी केहती हे ; 
“बेटा घर जल्दी आ जाना “...
!! जय हिन्द !!



तैरना है तो समंदर में तैरो नालों में क्या रखा हैं, 
प्यार करना है तो देश से करो औरों में क्या रखा हैं..!!



दिल से मर कर भी ना निकलेगी वतन की उल्फ़त, 
मेरे मिट्टी से भी खुशबू-ए-वतन आएगी..!!

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti par shayari 2020

देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है 
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है, 
भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है..!!



न पूछो ज़माने को, 
क्या हमारी कहानी है, 
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है, 
की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी हैं ……!!!



न मरो सनम बेवफा के लिए, 
दो गज जमीन नहीं मिलेगी दफ़न होने के लिए, 
मरना है तो मरो वतन के लिए, 
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी तेरे कफ़न के लिए.

new desh bhakti shayari download in hindi
desh bhakti shayari
desh bhakti shayari 2020

फौज में मौज है; 
हजार रूपये रोज है; 
थोड़ा सा गम है; 
इसके लिए भी रम है; 
ज़िंदगी थोड़ी रिस्की है; 
इसके लिए तो व्हिस्की है; 
खानें के बाद फ्रुट है; 
मरनें के बाद सैलूट है; 
पहनने के लिए ड्रैस है; 
ड्रैस में जरूरी प्रेस है; 
सुवह-सुबह पी.टी है; 
वॉर्निंग के लिए सीटी है; 
चलने के लिए रूट है; 
पहनने के लिए D.M.S बूट है; 
खाने के लिए रिफ्रैशमेंन्ट है; 
गलती करो तो पनिशमेंट है; 
जीते-जी टेंशन है; 
शहीद होने के बाद पेंशन है...
!! जय हिन्द !!



बस ये बात हवाओं को बताये रखना, 
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना, 
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने, 
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना… !!



भारत देश हमको जान से प्यारा है 
हिन्दुस्तानी नाम हमारा है। 
न बर्षा में गलें न सर्दी से डरें न गर्मी से तपें । 
हम फौजी इस देश की शान है...
!! जय हिन्द !!



मत करो मेरे देश के ‪फ़ौजियों‬ पे ‪शक़‬, 
ओ ‪हरामखोरो‬ तुम जहाँ ‪कदम‬ भी नहीं रख सकते, 
उन्होंने वहाँ भी ‪‎तिरँगा लहराया‬ है...
!! जय हिन्द !!


                             good morning Shayari in hindi


माँ-बाप के सिवा किसी का सुक्रिया अदा करो या ना करो, 
लेकिन खाते समय किसान‬ का और सोते समय, 
‎भारतीय सेना‬ का हमेशा ही सुक्रिया अदा करो, 
जय जवान जय किसान...
!! जय हिन्द !!



मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए 
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए 
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए 
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये..!!

new desh bhakti Shayari download in Hindi

मेरा “हिंदुस्तान” महान था, 
महान है और महान रहेगा, 
होगा हौसला बुलंद सब के ड़ों में बुलंद 
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा



मेरे मुल्क की हिफाज़त ही मेरा फ़र्ज है और मेरा मुल्क ही मेरी जान है , 
इस पर कुर्बान है मेरा सब कुछ , नही इससे बढ़कर मुझको अपनी जान है..!!



मैं भारत बर्ष का हमेशा अमित सम्मान करता हूँ, 
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ, 
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की, 
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ..!!



ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें भी परेशान हो जाएं ! 
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुस्लमान हो जाएं 
    

    
न मस्जिद को जानते हैं , न शिवालों को जानते हैं 
जो भूखे पेट होते हैं, वो सिर्फ निवालों को जानते हैं. 
मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है. 
की मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है. 
में अमन पसंद हूँ, मेरे शहर में दंगा रहने दो, 
लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो



ये बात हवाओ को भी बताये रखना, 
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना, 
लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की .. 
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना .



लग जाती है लगन जब, 
होकर के मगन तब, 
हम धरती आसमान मिला देते हैं, 
हम हिन्दुस्तानी सैनिक जो ठान लेते हैं कर के दिखला देते हैं, 
मर मर कर हमने कभी सीखा नहीं है जीना, 
जोश हमारा देखकर दुश्मन को आता पसीना, 
हम जय हिंद के नारों से आकाश गूंजा देते हैं, 
हम हिन्दुस्तानी सैनिक जो ठान लेते... 
पीछे कदम न हटाते आगे ही बढ़ते जाते, 
सीनों पे खाते हैं गोली पीठ नहीं हैं दिखाते, 
हम खून बहाकर माँ की आन बचाते हैं, 
हम हिन्दुस्तानी सैनिक जो ठान लेते...
!! जय हिन्द !!



लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा, 
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा, 
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि, 
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा..!!



वतन हमारा ऐसे न छोड़ पाए कोई, 
रिश्ता हमारा ऐसे न तोड़ पाए कोई, 
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान, 
हिंदुस्तान हमारा है, हम है इसकी शान



हर किसी के दिल पे एक दास्ता लिख जाउगा, 
जाते जाते में जमी को आसमा लिख जाउगा, 
अगर किसी ने देखा आख भर के मेरे हिंद को, 
सरहदों पर खून से हिन्दुस्तान लिख जाउगा...!! 
जय हिन्द 



अगर भारत को है महान बनाना… 
तो भ्रष्ट नेताओं को होगा हटाना और भ्रष्टाचार को होगा मिटाना… 
ये किसी एक से न होगा..
 पूरे जनसमुदाय को होगा साथ निभाना…



अब तक जिसका खून न खौला, वो खून नहीं वो पानी है…
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है… 
बोलो भारत माता की जय.. 



आओ झुक कर सलाम करे उनको… जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है;
 खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है!



क्यों मरते हो यारो सनम के लिए…
 ना देगी दुपट्टा कफ़न के लिए… 
मारना है तो मरो “वतन” के लिए “तिरंगा” तो मिले कफन के लिए… 



चड़ गये जो हंसकर सूली, खाई जिन्होने सीने पर गोली, हम उनको प्रणाम करते हैं,
 जो मिट गये देश पर… हम उनको सलाम करते हैं…




ना सरकार मेरी है ! ना रौब मेरा है ! ना बड़ा सा नाम मेरा है !
 मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है , मै “हिन्दुस्तान” का हूँ…. और “हिन्दुस्तान” मेरा है…
जय हिन्द



पंख फैलाये हुए मौर बहुत देखे है, घन पे छाये घनघोर बहुत देखे है…
 नाला कहता है समंदर से उमड़ना सीखो, हमने बरसात के ये शौर बहुत देखे है… 
भारत माता की जय



फना होने की इज़ाजत ली नहीं जाती, 
ये वतन की मोहब्बत है जनाब पूछ कर  की नहीं जाती…!!
वंदे मातरम् !




लंदन देखा पेरिस देखा और देखा जापान , 
सरे जग में कहीं नहीं है दूसरा हिन्दुस्तान..
 We all feel proud to be an Indian.
 Wishing you all a very republic  Day 2019!!



संस्कार, संस्कृति और शान मिले…
 ऐसे हिन्दू, मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले…
 रहे हम सब ऐसे मिल-जुल कर… 
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में भगवान् मिले।



साले अपने खुद के देश में एक सुई नहीं बना सकते ….
 और हमारा देश तोड़ने का सपना देखते हैं।



हम तो किसी दूसरे की धरती पर नज़र भी नहीं डालते… लेकिन इतने नालायक बच्चे भी नहीं की कोई हमारी धरती माँ पर नज़र डाले और हम चुप चाप देखते रहे।
 जय हिन्द




हर वक़्त मेरी आँखों में धरती का स्वप्न हो ,
जब कभी मरू तो तिरंगा मेरा कफ़न हो ,
और कोई ख्वाहिश नहीं है ज़िन्दगी में ,
जब कभी भी जन्मु तो भारत मेरा वतन हो ..!!



है नमन उनको कि जो यशकाय को अमरत्व देकर,
इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं,
है नमन उनको जिनके सामने बौना हिमालय,
जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं..!!



होली वही जो स्वाधीनता की आन बन जाये,
होली वही जो गणतंत्रता की शान बन जाये,
भरो पिचकारियों में पानी ऐसे तीन रंगो का,
जो कपड़े पर गिरे तो हिँदुस्थान बन जाये...!! जय हिन्द !!



ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता..!!



thank you 

umeed karta hu ye new desh bhakti shayari download in hindi aapko achhi lagi hogi agar aapko or dusri shayari chahiye to aap hmaare website pe ja sakte ho chekout-mubarakwishes
or aap hme facebook,instagram pr bhi follow karke shayari padh sakte ho.

No comments

please do not enter any spam link in the comment box