Best gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

Share:

Best Gulzar shayari on love in hindi 2020-Gulzar shayari on Yaadein

gulzar shayari on love

दोस्तों आज हम आपके लिए gulzar shayari on love in hindi लेकर आये है, अगर आपको gulzar  shayari पसंद है तो आप सही जगह पे आ गए जो क्युकी यहाँ आप gulzar shayari on yaadein, gulzar shayari on zindigi की ढेर सारी शायरी पढ़  सकते  हो और उसे अपने दोस्तों या अपने चाहने वालो को भेज सकते हो।

आज जो आप gulzar shayari on love पढोगे उसमे में ज़्यदातर गुलज़ार की जुदाई या गुलज़ार की दर्द शायरी है, अगर आप गुलज़ार साहब की शायरी और पढ़ना चाहते हो तो आप हमारी वेबसाइट पे जा के देख सकते हो, वहां हमने और भी गुलज़ार साहब से जुडी शायरी कविताये और गज़ले पोस्ट की है।

दोस्तों इन Best gulzar shayari on love in hindi पढ़ने के बाद आप हमें जरूर बताना की ये आपको कैसी लगी ताकि हम और भी अच्छी शायरी लेकर आ सके।  आप हमें Instagram पे भी फॉलो कर सकते हो  और वह से भी शायरी का आनंद ले सकते हो

Top Collection of Gulzar Shayari on love 2020

gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


हाथ की लकीरे सिर्फ सजावट बया करती है
किस्मत अगर मालुम होती तो मेहनत कौन करता
Haath ki lakire sirf sajawat baya karti haiKismat agar malum hota to mehnat kon karta

तुमने फैसले ही फासले बढ़ाने वाले किये, वर्ना कोई नहीं था तुझसे ज्यादा करीब मेरे
Tumne phaisle hi faasle badhane vale kiye varna koi nahi tha tujhse jayda karib mere.


एक मुद्दत हुई तुमको देखा नहीं,एक जमाना हुआ मुस्कुराये हुए
Ek mudat hui tumko dekha nahi ek jamana hua muskurae hue.



gulzar shayari on love


मुदात्तो बाद आज फिर परेसान हुआ है ये दिल, न जाने किस हाल में किस हाल में होगा मुझे चाहने वाला।
Mudatto baad aaj phir paresaan hua hai ye dil na jaane kis haal me hoga muje pyar vala.

जरा सा भी नहीं पिघलता दिल तुम्हारा,इतना कीमती पत्थर कहा से ख़रीदा।
Jara sa bhi nahi pighalta dil tumhara itna kimti pathar kaha se kharida

दिल पे न लो उनकी बातो को जो दिल में रहते है। 
Dil pe na lo unki baato ko jo dil me rahte hai.

मेरे न हो सको तो कुछ ऐसा कर दो, मै जैसी थी मुझे फिर वैसा कर दो। 
Mere na ho sake to kuch aisa kar do, mai jaisi thai mujhe vaisa kar do.

Gulzar best shayai on yaadein 2020



gulzar shayari on love


कोन सीखता है सिर्फ बातो से सब को एक हादसा जरुरी है। 
Kon sikhta hai sirf baato se sab ko ek haadse jaruri hai.

खुबसूरत सा वो पल था पर क्या करे वो कल था। 
Kubsurat sa bo pal tha par kya kare vo kal tha.

मिला तो बहुत कुछ जिंदिगी में पर, हम गिनती उसी की करते है जो हासिल न हो सका। 
Mila to bahut kuch jindigi me par hum ginti usi ki karte hai jo hume haasil n ho saka.

निभाने का इरादा करो तभी कोई वादा करो। 
Nibhane ka irada karo tabhi koi vada karo.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


तू भी सही मै भी सही बस यही एक बात गलत है। 
Tu bhi sahi mai bhi sahi bas yahi ek baat galat hai.

किस काम की रही ये जिंदिगी, वादे किए किसी से और गुजरे किसी के साथ। 
Kis kaam ki rahi ye jindigi vade kisi se or gujare kisi ke sath.

अगर जिस्म से लिपटना मोहबत है तो, अजगर से बड़ा कोई महबुब नहीं। 
Agar jism se lipatna mohabat hai to ajgar se bada koi mahbub nahi.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

love shayari of gulzar sahab in hindi


कैसे करे हम खुद को तेरे काबिल, जब हम आदते बदलते है तुम सरते बदल देते हो। 
Kaise kare hum khud ko tere kaabil jb hum aadate badalte hai tum sarte badal dete ho.

जाने क्यू महसूस हो रहा है की मुझे महसूस कर रहे हो तुम। 
Jaane ku mahsus ho raha hai ki mujhe mahsus kar rahe ho tum.


पर्दा सरम का ही काफी है वर्ना, इशारे तो घूँघट में भी होते है। 
Parda saram ka hi kaafi hai varna esaare to ghunghat me bhi hote hai.

कुछ इस तरह मैंने अपनी जिंदिगी को आसन कर लिया, किसी से माफ़ी मांग ली और किसी को माफ़ कर दिया
Kuch is tarah maine apni jindigi ko aasan kar liya, kisi se mafi mang li or kisi ko maaf kar diya.

gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

gulzar quotes in hindi on love


मुझे तू चाहिए तेरा साथ चाहिए जिसे थाम कर जिंदिगी बिता दू वो वाला हाथ चाहिए। 
Muje tu chahiye tera saath chahiye jise tham kar mai puri jindigi bita du vo wala haath chahiye.

न जाने कब से मुझे इन्तेजार है उसका, जो कह गया था मेरा इन्तेजार मत करना। 
Na jaane kab se muje entejaar hai uksa, jo kah gaya tha mera entejaar mat karna.

बहुत अजीब है ये बंदिसे मोहबत की, न उसने कैद में रखा न हम फरार हुए। 
Bahut ajib hai ye bandishe mohabat ki, na usne kaid me rakha na hum pharar hue.

धोखा कोई एक देता है और भरोसा सब से उठ जाता है। 
Dhokha koi ek deta hai or bharosa sab se uth jaata h.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


गुलज़ार मोहबत शायरी इन हिंदी 

हर उस सक्स से लड़ लेते है हम, जिन्हें हम खोना नहीं चाहते....
Har us saks se lad lete hai hum, jinhe hum khona nahi chahte...

एक हसरत थी की कभी वो भी हमें मनाये, पर ये कम्बक्थ दिल कभी उनसे रूठा ही नहीं। 
Ek hasrat thi ki kabhi vo bhi hame manaye, par ye kambakt dil kabhi unse rutha hi nahi.

हकीकत की रसियो पे लटक कर, जाने कितने ख्वाब खुदकुशी कर गए....
Hakikat ki rasiyo pe latak kar, jaane kitne khvab khudkusi kar gay..



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


हर नई चीझ अच्छी लगती है, मगर दोस्त पुराने ही अछे लगते है। 
Hai nahi chijh achhi lagti hai, magar dost purane hi achhe lagte hai.

ऐसा क्या कह दूं इस पल में तुमसे की आखरी मुलाकात आखरी न रहे। 
Aisa kya kah du is pal me tumse ki aakhri mulakat akhri na rahe.

फिर कहा हिसाब रहता है, इश्क जब बेहिसाब हो जाये। 
Phir kaha hissab rahta hai, isq jab behisaab ho jaye



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

gulzar shayari on life in hindi font

अब नींद से कहो हमसे सुलह कर ले, वो दौर चला गया जिसके लिए हम जगा करते थे....
Ab nind se kaho humse sulah kar le, vo dour chala gaya jiske liye hum jaga karte the..

जेब खली हो फिर भी मना करते नहीं देखा है मैंने, पिता से बड़ा आमिर इंसान नहीं देखा है मैंने....
Jeb khaali ho fir bhi mana karte nahi dekha hai maine, pita se bada amir ensaan nahi dekha hai maine..


धागे ही बड़े कमजोर चुने थे मैंने, उम्र निकल दी गाठ बंधने में। 
Dhage hi bade kamjor chune the maine puri umr nikaal di gaath bandhne me.

दर्द वो भी सहा है तेरे लिए मेरे किस्मत में जो लिखा नहीं। 
Dard vo bhi saha hai tere liye mere kismat me jo likha nahi.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

गुलज़ार की दर्द शायरी इन हिंदी 

मुझे पाना जरुरी नहीं है तेरा होना ही काफी है। 
Mujhe pana jaruri nahi hai tera hona hi kafi hai.

मुझे इन्तेजार करना आता है बस तुम लौटना सिख लो। 
Mujhe entejaar karna aata hai bs tum lotna sikh lo.

मैंने अपने ही दिल का बहुत दिल दुखाया है। 
Maine apne hi dil ka bahut dil dukhaya hai.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

gulzar shayari on life in hindi

घडी की सुइया जैसे रिश्ता है हमारा कभी मिलते है, कभी नहीं पर हा जुड़े रहते है। 
Ghadi ki suiya jaise rista hai hamara kabhi milte hai, kabhi nahi par hai jude rahte hai.
नींद तो बचपन में आया करती थी अब तो बस थक कर सो जाते है। 
Nind to bachpan me aaya karti thi ab to bs thak kar so jaate hai.

चलो मर जाएंगे तुम पर ये वादा है पर शर्त ये है की दफ़न अपनी बहो में करोगे....
Chalo mar jainge tum par ye vada hai pr sart ye hai ki dafan apni baho me karoge..

एक शोर है मुझमे जो खामोस बहोत है। 
Ek soor hai mujhme jo khamosi bahot hai.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

गुलज़ार की जीवन पे शायरी हिंदी 

वो अलग बात है तुम निभा न सके, पर जो वादे तुमने किये थे वो कमाल के थे।
vo alag baat hai tum nibha na sake par jo vade tumne kiye the vo kamal ke the...

कागज के फूल भी महकते है कोई देता है जब मोहबत से। 
Kagaj ke phul bhi mahakte hai koi deta hai jab mohabat se.

वो जो मेरे दिल के करीब था जाने किसका नसीब था। 
Vo jo mre dil ke karib tha na jane kiska nasib tha.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

गुलज़ार लव शायरी हिंदी में 

जिंदिगी एक अलग चीझ है जिन्दा रहना एक अलग बात है। 
Jindigi ek alag chijh hai jinda rahna ek alag baat hai.

फिर उसी मोड़ से सुरु करनी है जिंदिगी,जहां सब अपना था और तुम पराये। 
Phir usi mod se suri karni hai jindigi jaha sab apna tha or tum paraya.

हमें पता है तुम कही और के मुसाफिर हो , हमारा सहर तो यूही रस्ते में आया था। 
Hame pata hai tum kahi or ke musafir ho, hamara sahar to uhi raaste me aaya tha.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


अब मैं जवाबो का इन्तेजार नहीं करता मैंने सवालो को बहलाना सिख लिया है। 
Ab mai jawabo ka intejar nahi karta maine sawalo ko bahlna sikh liya h.

तेरे छोड़ जाने का गम कुछ इस कदर मनायगे, तुम्हे सामने बैठाएंगे और भूल जायेंगे

दिल का तजुर्बा है मजा तरसने में ही है। 
Dil ka tajurba hai maja tarasne me hi hai.

तुझे माँगा है कितना उस खुदा से, कभी आना मेरे सहर के दरगाह के धागे बताएँगे। 
Tujhe manga hai kitna us khuda se, kabhi aana mere sahar ke dargah ke daghe batainge.


gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

gulzar shayari on zindagi

दुनिया के झूठे लोगो को बड़ा हुनर आते है, सचे लोग तो बस इल्जाम से ही मर जाते है।
Duniye ke jhuthe logo ko bada hunar aate hai, sache log to bas elzam se hi mar jate hai.

अजीब तरह से नाकाम हुए हम दोनों, वो मुझे कह न सका, मैं उसे भुला न सका। 
Ajib tarah se nakam hue hum dono, vo mujhe chhod na sake mai use bhula na saka.

मुझे ढूंड लेती है हर रोज एक नए बहाने से , तेरी याद वाकिफ हो गयी है मेरे हर ठिकाने से....
Mujhe dhund leti hai har roj ek naye bahane se, teri yaad vakif ho gai hai mere hr thikane se...

gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

Gulzar love shayari status in hindi 

रात का अँधेरा मुझसे पुच रहा है, कहा गया वो रात भर बात करने वाला....
Raat ka andhera mujhse puch raha h, kaha gaya vo raat bhar baat karne vala...

मेरे बाद अगर किसी को मुझ जैसा पाओ तो, मेरे बाद किसी के साथ मुझ जैसा मत करना.....
Mere baad agar kisi ko mujh jaisa pao to, mere baad kisi ke sath mujh jaise mat karna...

स्वर रही है वो आज किसी और के लिए, मैं आज भी बिखर रहा हूं उसके लिए...
Sawar rahi hai vo aaj kisi or ke liye, mai aaj bhi bhikhar raha hu uske liye..



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

love shayari and quotes by Gulzar sahab in hindi 

आ जाती है कैसे तुमको नींद बिना कुछ कहे, हमको नींद में भी तुमसे कुछ कहना होता है....
Aa jaati hai kaise tumko nind bina kuch kahe, hamko nind me bhi tumse kuch kahna hota hai.

ये जो सुखी टहनियों में नमी बची है न इसीको याद कहते है। 
Ye jo sukhi tahaniyo me nami bachi hai na isko yaad kahte hai.

तुम मेरी तरफ देखना छोडो तो बताऊ, हर सक्स तुम्हारी तरफ ही देख रहा है। 
Tum meri taraf dekhna chodo to batau, har saks tumhari taraf hi dekh raha hai.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


जो लोग अन्दर से मर जाते है अक्सर वाही लोग दुसरो को जीना सिखाते है। 
Jo log andar se mar jaate hai aksar vahi log dusro ko jina sikhate hai.

जिसके हिस्से में रात आई है यक़ीनन उसी के हिस्से में चाँद भी होगा।
Jiske hisse me raat aai hai yakinan usi ke hisse me chand bhi hoga.

सुनो, मुझे इश्क है तुमसे कोई उम्मीद नहीं.
Suno, mujhe isq hai tumse koi umeed nahi.

मिलो का सफ़र पल में बर्बाद कर गया उसका ये कहना..... कहो कैसे आना हुआ। 
Milo ka safar pal me barbad kar gya uska ye kahna...kaho kaise aana hua.

yaad shayari by gulzar in hindi

gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


किसी और को सायद कम होगी लेकिन मुझे तेरी ज्यादा  जरुरत है। 
kisi or ko sayad kam hogi lekin mujhe teri jyada jarurat hai.

जो गुजारी न जा सकी हमसे हमने वो जिंदिगी गुजारी है। 
Jo guzari na ja sake hamse hamne vo Zindigi guzari hai.

आज मैंने फिर जज्बात बजे, आज तुमने फिर अल्फाज़ ही समझे। 
Aaj maine phir jajbaat bheje, aaj tumne phir alfaaz hi samjhe.

बड़ी बिगडैल है ये यादे देर रात को टहलने निकलती है। 
Badi bigdail hai ye yaade der raat ko tahalne nikalti hai.


gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

गुलज़ार की दर्द  शायरी

बस तेरे आने की एक अफवाह का ऐसा असर कैसे कैसे लोग थे बीमार अछे हो गए। 
Bas tere aane ki afwah ka aisa asar kaise kaise log bimar the achhe ho gay.

मुस्कुराया था वो बिछड़ते वक्त, उसकी कोसिस थी की कम पराया लगे..
Muskuraya tha vo bichhadte vakt, uski kosis thi ki kam paraya lage...

टूटे तो बहुत चुभते है क्या कांच क्या रिश्ते।
Tute to bahut chubhte hai, kya kanch, kya riste.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

Best gulzar shayari on love in hindi of 2020

न करवाते थी न बेचैनिया थी क्या गजब की नींद थी मोहबत से पहले। 
N karvate thi, N bechainiya thi, kya gazab ki nind thi mohabat se pahle.

कहा जख्म खोल बैठे पगले ये नमक का सहर है.
Kaha jakhm khol baithe pagle ye namak ka sahar hai.

बहुत तकलीफ होती है उस वक्त जब आप को समझने वाले ही आपको गलत समझने लगे.
Bahut taklif hoti hai us vakt jab aap ko samajhne wale hi aap ko galat samajhne lage.


gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

gulzar judai shayari in hindi for love


सूरत तो फिर भी सूरत है, मुझे तो तेरे नाम के लोग भी अछे लगते है। 
Suraat to phir bhi surat hai, muje to tere naam ke log bhi achhe lagte hai.

सुनो, तुम्ही रख लो मुझे अपना बना कर, ओरो ने तो छोड़ दिया तुम्हारा समझकर। 
Suno, tumhi rakh lo mujhe apna bana kar, auro ne to chhod diya tumhara samajh kar.

यु गुमसुम न बैठे पराये लगते हो मीठी बाते न सही तो चलो झगडा ही कर लो। 
U gumsum na baitho paraye lagte go mithi baate na sahi to chalo jhagda hi kar lo.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein


जिंदिगी भर के इम्तेहान के बाद वो नतीजे में किसी और का निकला।
Zindigi bhar ke imtehaan ke baad vo natize me kisi or ka nikla.

हमें भी सिखा दो यु भूल जाने का हुनर अब हमसे रातो को उठ उठ कर रोया नहीं जाता। 
Hame bhi sikha do u bhul jane ka hunar ab hmse ratao ko uth uth kar roya nahi jata.

सिकायते उन्हें भी है जिंदिगी से जिन्हें सब कुछ दिया है जिंदिगी ने..
Sikayate unhe bhi hai zindigi se jinhe sab kuch diya hai zindigi ne.

कुछ तो हिस्साब करो हम से इतनी मोहबत उधार में कौन देता है..
Kuch to hissab karo hum se, itni mohabat udhaar me kon deta hai.



gulzar shayari on love in hindi,gulzar shayari on yaadein

gulzar shayari on love in hindi

दोस्तों आपको ये Gulzar Shayari on love in Hindi,Gulzar Shayari on yaadein  पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद आप हमारी और भी शायरी  कोट्स पढ़ सकते हो।

1.good morning quotes with images in Hindi
2.new mahakal status in Hindi 2020
3.best attitude quotes in Hindi for Fb, Whatsapp Dp
4.Good night status in Hindi with images 2020
5.Good morning quotes in Hindi for love
6. Top breakup Shayari in Hindi with images 
7.100+ Sad Shayari in Hindi for girlfriend and boyfriend
8.Gulzar 2 line Shayari in Hindi 2020

No comments

please do not enter any spam link in the comment box